गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) लोगों को बहुत रास रहा है। इसी का नतीजा है कि लगातार पांचवें महीने Gold ETF में निवेश बढ़ा है। अगस्त में कुल 908 करोड़ रुपए का निवेश आया है। इस साल अब तक कुल 5,356 करोड़ रुपए का निवेश आया है। इससे पहले जुलाई में 921 करोड़ रुपए का निवेश हुआ था। कोरोनावायरस महामारी के कारण निवेशकों ने गोल्ड ईटीएफ में निवेश बढ़ा दिया है। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एंफी) के मुताबिक गोल्ड ईटीएफ कैटेगरी में कुल असेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) अगस्त 2020 के अंत तक 13,503 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। गोल्ड ईटीएफ का एयूएम 31 जुलाई को 12,941 करोड़ रुपए था। जनवरी में 202 करोड़ रुपए और फरवरी में 1,483 करोड़ रुपए का शुद्ध निवेश हुआ। मार्च में निवेशकों ने इससे 195 करोड़ रुपए निकाल लिए। इसके बाद अप्रैल में 731 करोड़ रुपए का और मई में 815 करोड़ रुपए का निवेश हुआ। जून में 494 करोड़ और जुलाई में 921 रुपए का निवेश हुआ था। सोने को शेयरों की तरह खरीदने की सुविधा को गोल्ड ईटीएफ कहते हैं। यह म्यूचुअल फंड की स्कीम है। ये एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड हैं जिन्हें स्टॉक एक्सचेंजों पर खरीदा और बेचा जा सकता है। गोल्ड ईटीएफ स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड होता है। यह फंड फिजिकल गोल्ड में निवेश करता है। यह काफी लिक्विड निवेश है, क्योंकि निवेशक इसे एक्सचेंज पर कभी भी कारोबार अवधि के दौरान बेच सकता है। एक्सचेंज पर ईटीएफ फिजिकल गोल्ड के मार्केट प्राइस पर ट्रेड करता है।