भोपाल.राजधानी भोपाल (bhopal) में जहांगीराबाद के बाद अब जाट खेड़ी शहर का दूसरा नया सबसे बड़ा कोरोना हॉट स्पॉट (hot spot) बन गया है. यहां 300 मीटर के दायरे में 38 कोरोना (corona) पॉजिटिव मरीज मिले हैं. इसके बाद प्रशासन और लोगों दोनों में हड़कंप मचा हुआ है. प्रशासन ने जहांगीराबाद के बाद अब इस इलाके में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.टीम यहां डेरा डाले हैं और लगातार सैंपल लिए जा रहे हैं.भोपाल के डेथ ज़ोन बन चुके जहांगीराबाद इलाके में धीरे-धीरे हालात काबू में आ रहे थे कि अब नयी चुनौती खड़ी हो गयी है. जाट खेड़ी में कोरोना ने अचानक पैर पसार लिए हैं. एक साथ 38 मरीज़ मिलने के बाद प्रशासन भी नहीं समझ पा रहा कि अब क्या करें और क्या नहीं. पूरे इलाके को सील कर दिया गया है. ज्यादा से ज्यादा लोगों के सैंपल जांच के लिए लिए जा रहे हैं.

संक्रमित लोग 9 परिवार के सदस्य...
जाट खेड़ी के दो मोहल्लों की चार गलियां कोरोना लेन बन गयी हैं. यहां करीब 300 मीटर के दायरे में 11 दिन में 38 लोगों में कोरोना फैल गया है. कोरोना संक्रमित ये लोग 9 परिवारों के हैं. 11 मई को यहां एक किराना व्यापारी को कोरोना हो गया था. उसके बाद ये संक्रमण फैलता गया जो बढ़ते-बढ़ते 38 पर जा पहुंचा.

यह है संकम्रण फैलने की वजह
जाट खेड़ी में कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने के पीछे ये वजह बताई जा रही है कि यहां संकरी गली हैं  और जो मकान हैं उनमें क्षमता से ज्यादा लोग रहते हैं. इन बस्ती में अधिकांश एक या दो कमरे के ही मकान हैं. लेकिन इनमें 5 से 7 लोग रहते हैं. तंग गलियां होने के कारण यहां पर तेजी से संक्रमण फैला है. स्वास्थ विभाग की दो टीमें लगातार इस इलाके का सर्वे कर रही हैं. टीम यहां डेरा डाले हुए है. जाट खेड़ी से बाग मुगालिया जाने वाले रास्ते और जाट खेड़ी से दूसरी तरफ जाने वाले रास्तों को बन्द कर दिया गया है. कलेक्टर, डीआईजी और नगर निगम कमिश्नर ने भी यहां की व्यवस्था का जायजा लिया. पुलिस यहां पर लोगों तक जरूरत का सामान पहुंचा रही है. लोगों को होम क्वॉरेंटीन कर दिया गया है. यहां की बस्तियों में करीब 300 परिवार रहते हैं जिनकी संख्या एक हजार से ज्यादा बताई जा रही है.प्रशासन का दावा है जल्द ही सभी का सर्वे और सैंपलिंग कर कोरोना संकम्रण पर काबू पा लिया जाएगा.