भोपाल : प्रदेश में अनुसूचित-जाति वर्ग की कन्याओं को कक्षा-10 के बाद स्कूल में निरंतर पढ़ाई के लिये प्रोत्साहित किया जा रहा है। अनुसूचित-जाति कल्याण विभाग द्वारा इसके लिये कन्या साक्षरता प्रोत्साहन योजना चलाई जा रही है। पिछले वर्ष विभाग द्वारा 47 हजार 506 कन्याओं को इस योजना का फायदा दिलाया गया है।

विभाग द्वारा योजना में कक्षा-11वीं में प्रवेश लेने पर छात्रा को 3 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि उपलब्ध करवाई जाती है। पिछले वर्ष विभाग द्वारा योजना पर 14 करोड़ 26 लाख रुपये खर्च किये गये। इसके साथ ही विभाग द्वारा अनुसूचित-जाति वर्ग की ऐसी बालिका को, जिसे कक्षा-11 में पढ़ाई करने के लिये अपने गाँव से अन्य स्थान पर जाना पड़ता है, उन्हें नि:शुल्क साइकिल उपलब्ध कराई जा रही है। पिछले वर्ष अनुसूचित-जाति वर्ग की 455 छात्राओं को नि:शुल्क साइकिल उपलब्ध कराई गई। विभाग द्वारा इस वर्ष इन योजनाओं के लिये 14 करोड़ 10 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है।

आदिवासी बस्ती के विकास के लिये राशि आवंटित

प्रदेश में आदिवासी बस्ती के विकास के लिये इस वर्ष आदिम-जाति कल्याण विभाग द्वारा 74 लाख रुपये की राशि आवंटित की गई है। आवंटित राशि से सामुदायिक भवन, सी.सी. रोड का निर्माण कराया जायेगा। यह राशि धार और रायसेन जिले में आदिवासी बस्ती विकास के लिये आवंटित की गई है।