बेंगलूरु । इंडरिलायंस स्ट्रीज (आरआईएल) किशोर बियाणी की कंपनी फ्यूचर ग्रुप का रिटेल कारोबार खरीदेगी। बताया जा रहा है ‎कि इस सौदे को लेकर दोनों कंपनियों के बीच बातचीत लगभग् हो चुकी है। जानकारों का कहना है कि इससे ग्रोसरीज, फैशन और जनरल मर्केंडाइज जैसी श्रेणियों में रिलायंस का कारोबार और मजबूत होगा। इस सौदे के तहत बियाणी की कम से कम तीन कंपनियों फ्यूचर रिटेल, फ्यूचर लाइफस्टाइल फैशंस और फ्यूचर सप्लाई चेन सॉल्यूशंस का विलय होगा। इसके बाद इस संयुक्त कारोबार का मुकेश अंबानी की कंपनी अधिग्रहण करेगी। आरआईएल 15 जुलाई को होने वाली एजीएम से पहले इस सौदे को पूरा करना चाहती है। सूत्रों का कहना है कि अभी दोनों पक्षों की तरफ इस सौदे की बारीकियों पर काम चल रहा है और अंतिम सौदे पर हस्ताक्षर नहीं हुए हैं। इस सौदे के बारे में इसी साल चर्चा शुरू हुई थी क्योंकि बियाणी की एक होल्डिंग कंपनी ने लोन रिपेमेंट में डिफॉल्ट किया था। रिटेल किंग के तौर पर जाने जाने वाले बियाणी उसके बाद से ही विकल्पों की तलाश कर रहे हैं। इनमें रिटेल यूनिटों में हिस्सेदारी बिक्री भी शामिल है। साथ ही वह अपने इश्योरेंस ज्वाइंट वेंचर फ्यूचर जेनेराली को भी बेचना चाहते हैं। कई दूसरी कंपनियों ने भी फ्यूचर ग्रुप में दिलचस्पी दिखाई थी। इनमें अमेरिका कि दिग्गज रिटेल कंपनी एमेजॉन भी शामिल थी, लेकिन एक सूत्र ने बताया कि रिलायंस की पेशकश से बियाणी की कर्ज की समस्या का व्यापक समाधान होगा।